Header Ads Widget

Ticker

6/recent/ticker-posts

Saakhi- दूसरों की कमियां छुपाएँ। Radha Soami Babaji Ki Sakhi Dera Beas

Radha Soami Babaji ki Sakhi Dera Beas 2021

 Saakhi- दूसरों की कमियां छुपाएँ


एक बार की बात है किसी राज्य में एक राजा था, जिसकी केवल एक टाँग और एक आँख थी। उस राज्य में सभी लोग खुशहाल थे, क्योंकि राजा बहुत बुद्धिमान और प्रतापी था। एक बार राजा को विचार आया कि, क्यों न खुद की एक तस्वीर बनवायी जाये। फिर क्या था, देश विदेशों से चित्रकारों को बुलवाया गया और एक से एक बड़े चित्रकार राजा के दरबार में आये। राजा ने उन सभी से हाथ जोड़ कर आग्रह किया, कि वो उसकी एक बहुत सुन्दर तस्वीर बनायें जो राज महल में लगायी जाएगी।

 सारे चित्र कार सोचने लगे कि राजा तो पहले से ही विकलांग है, फिर उसकी तस्वीर को सुन्दर कैसे बनाया जा सकता है। ये तो संभव ही नहीं है और अगर तस्वीर सुन्दर नहीं बनी, तो राजा क्रोध में आकर हमें दंड दे देगा। यही सोचकर सारे चित्रकारों ने, राजा की तस्वीर बनाने से मना कर दिया। तभी पीछे से एक चित्रकार ने अपना हाथ खड़ा किया और बोला कि मैं आपकी बहुत सुन्दर तस्वीर बनाऊँगा जो आपको जरूर पसंद आएगी। 

फिर चित्रकार जल्दी से राजा की आज्ञा लेकर, तस्वीर बनाने में जुट गया। काफी दिनों बाद उसने एक तस्वीर तैयार की, जिसे देखकर राजा बहुत प्रसन्न हुआ और सारे चित्रकारों ने अपने दातों तले उंगली दबा ली। उस चित्रकार ने एक ऐसी तस्वीर बनायीं थी, जिसमें राजा एक टाँग को मोड़कर जमीन पर बैठा है और एक आँख बंद करके अपने शिकार पर निशाना लगा रहा है।

राजा ये देखकर बहुत प्रसन्न हुआ, कि उस चित्रकार ने राजा की कमजोरियों को छिपा कर कितनी चतुराई से एक सुन्दर तस्वीर बनाई है। राजा ने इतनी सुंदर और प्रभावशाली तस्वीर बनाने के बदले उसे खूब इनाम दिया। *तो क्यों ना हम भी दूसरों की कमियों को छुपाएँ, उन्हें नजर अंदाज करें और सब की अच्छाइयों पर ध्यान दें। आज कल देखा जाता है, कि हम लोग एक दूसरे की कमियाँ बहुत जल्दी ढूंढ लेते हैं। चाहें हम सब में कितनी भी बुराइयाँ हों, लेकिन हम हमेशा दूसरों की बुराइयों पर ही ध्यान देते हैं।

हम यही कहते और बोलते हैं कि वे अमुक आदमी ऐसा है ओर वो वैसा है। सोचिये अगर हम भी उस चित्रकार की तरह दूसरों की कमियों पर पर्दा डालें, उन्हें नजर अंदाज करें। तो धीरे धीरे सारी दुनियाँ से बुराइयाँ खत्म ही हो जाएँगी और सिर्फ अच्छाइयाँ ही रह जाएंगी।* जो प्राप्त है, पर्याप्त है इसलिए अच्छा लक्ष्य और अच्छा मित्र परमात्मा का दिया उपहार है। *इसलिए हमें इस कहानी से सीख लेते हुए इन दो बातों को ध्यान में रखना है, की हमें उस कुल मालिक ने एक सुंदर और पर्याप्त देह दी हैं ओर जो देह पुरी ठीक ठाक सही सलामत हैं।

इसलिए हमें किसी किस्म का अभिमान नहीं करना है, बल्कि उस राजा की तरह शांत स्वभाव रखते हुए, सबसे अच्छा व्यवहार करना है। और दूसरी बात यह याद रखनी है, कि हमें किसी की कमीयां नहीं निकालनी है। पहले हम अपने अंदर झांके कि हम क्या है और कहां खड़े हैं। और फिर  दूसरों की अच्छाइयां देखे ओर उन अच्छाइयों की सराहना करे। जिस तरह चित्रकार ने राजा की कमीयां ना देखते हुए, एक अच्छा ओर सुन्दर चित्र बनाया।

ठीक उस ही प्रकार हमें भी किसी व्यक्ति की कमियों को ना देखते हुए, उससे एक अच्छा व्यवहार करना है। हमे यह विचार करने की जरूरत भी है, कि आप कभी किसी का दिल न दुखाओ। यह एक ऐसा पाप है, जिसे खुद कुल मालिक भी मांफ नहीं करता ओर ये परमार्थ की जड़ को ही काट देता है। हमें अपने विचारो को दूसरों पर नहीं थोपना चहिए, बल्की सदा नम्रता का व्यवाहर रखना चाहीए और सब से मीठे वचन बोलने चाहिए। प्रसिद्ध  मुसलमान संत शेख फरीद जी कहते है: *जे तऊ पिरिया दी सिक, हिआऊ न ढाये कही दा।।* ऐ फ़रीद! अगर तुझे प्रीतम से मिलने की सची चाह है, तो कभी किसी का दिल ना दुखा।।


हरि सिमरत सभ मिटह कलेस,

चरण कमल मन महि परवेस ।

उचरहो राम नाम लख वारी,

अमृत रस पीवह प्रभ पिआरी ।।

Radha Soami Sangat ji.

Apko ye babaji ki sakhi kaisi lagi hamein jrur btayen ji.

If you like this Radha soami sakhi the Share this website with your friends and family.

Radha soami hindi sakhiyan 2021 dera beas.

Babaji ki sakhi radha soami ji.

Like and Follow Our facebook Page  

 


Post a Comment

0 Comments