Header Ads Widget

Ticker

6/recent/ticker-posts

जीवन का रहस्य | Jeevan Ka Rahasya | Radha Soami Sakhi Satsang Beas

Radha soami babaji ki sakhi

 

 Radha Soami Babaji Ki Sakhi Dera Beas

Very heart touching radha soami sakhi
घटना उस समय की है, जब मानव का जन्म नहीं हुआ था। विधाता जब सूनी पृथ्वी को देखता, तो उसे कुछ न कुछ कमी नजर आती और वह दिन-रात सोच में पड़ा रहता। आखिर विधाता ने चंद्रमा की मुस्कान, गुलाब की सुगंध, अमृत की माधुरी, जल की शीतलता, अग्नि की तपिश और पृथ्वी की कठोरता से मिट्टी का एक पुतला बनाकर उसमें प्राण फूंक दिए।
 
मिट्टी के पुतले में प्राण का संचार होते ही सब ओर रौनक हो गई और घरौंदे महकने लगे। देवदूतों ने विधाता की इस अद्भुत रचना को देखा, तो हैरान रह गए और विधाता से बोले, ‘यह क्या है?’ विधाता ने कहा, ‘यह जीवन की सर्वश्रेष्ठ कृति मानव है।’ विधाता की बात पूरी भी न हो पाई थी कि एक देवदूत बीच में ही बोल पड़ा, ‘क्षमा कीजिए प्रभु।
 
लेकिन यह बात हमारी समझ से परे है कि आपने इतनी मेहनत कर एक मिट्टी को आकार दे दिया। उसमें प्राण फूंक दिए। मिट्टी तो तुच्छ है, जड़ से भी जड़ है। मिट्टी के बजाय अगर आप सोने अथवा चांदी के आकार में यह सब करते, तो ज्यादा अच्छा रहता।’
 
देवदूत की बात पर विधाता मुस्करा कर बोले, ‘यही तो जीवन का रहस्य है। मिट्टी के शरीर में मैंने संसार का सारा सुख-सौंदर्य, सारा वैभव उड़ेल दिया है। जड़ में आनंद का चैतन्य फूंक दिया है। इसका जैसे चाहे उपयोग करो। जो मानव मिट्टी के इस शरीर को महत्व देगा, वह मिट्टी की जड़ता भोगेगा; जो इससे ऊपर उठेगा, उसे आनंद के परत-दर-परत मिलेंगे।
 
इसलिए जीवन का प्रत्येक क्षण मूल्यवान है। तुम मिट्टी के अवगुणों को देखते हो, उसके गुणों को नहीं। मिट्टी में ही अंकुर फूटते हैं और मेहनत से फसल लहलहाती है। इसलिए मैंने मिट्टी के शरीर को कर्मक्षेत्र बनाया है।’ 
राधा स्वामी
Radha soami sangat ji, Agar sakhi achi lage to Facebook group join jrur kro g.
Baba Gurinder Singh ji sakhi satsang beas 2021 in hindi
 

Post a Comment

0 Comments