कहानी - बिना समझे निष्कर्ष पर ना पहुंचे। Bina Samjhe parinam na nikalen

MUST READ👌👌👌👌

एक छोटा सा बच्चा अपने दोनों हाथों में एक एक सेब लेकर खड़ा था🍎🍎

उसके पापा ने मुस्कराते हुए कहा कि
"बेटा एक सेब मुझे दे दो"

इतना सुनते ही उस बच्चे ने एक सेब को दांतो से कुतर लिया.

उसके पापा कुछ बोल पाते उसके पहले ही उसने अपने दूसरे सेब को भी दांतों से कुतर लिया

अपने छोटे से बेटे की इस हरकत को देखकर बाप ठगा सा रह गया और उसके चेहरे पर मुस्कान गायब हो गई थी...
तभी उसके बेटे ने अपने नन्हे हाथ आगे की ओर बढाते हुए पापा को कहा....
"पापा ये लो.. ये वाला ज्यादा मीठा है.

शायद हम कभी कभी पूरी बात जाने बिना निष्कर्ष पर पहुंच जाते हैं..
Ye bhi padhen - संगत का असर

किसी ने क्या खूब लिखा है:

नजर का आपरेशन
तो सम्भव है,
पर नजरिये का नही..!!! 👌💯

🍁🍁 फर्क सिर्फ सोच का
होता है.....
वरना , वही सीढ़ियां ऊपर भी जाती है ,और नीचे भीआती है 🍁🍁

🤔🤔🤔🤔


Comments

Popular posts from this blog

Sundar kahani। क्यों दिया जज ने पत्नी को तलाक। Maa ka sath de।

कहानी गुरु अर्जन देव जी और राजा की । पिछले जन्म के कर्म। Pichle Janm Ke Karm

फल अनजाने कर्म का । Anjane Karm ka Fal